19 C
Lucknow
Tuesday, December 5, 2023

सहारा हॉस्पिटल में सफलतापूर्वक जोड़ी गयीं 12 घंटे से अधिक पहले की कटी हुई नसें

जरूर पढ़े

लखनऊ। उन्तीस वर्षीय प्रतापगढ़ के रहने वाले अफसर अंसारी एक शादी समारोह में शामिल होने गए थे, जहां पर वह कांच की खिड़की के पास खड़े थे और एकदम से कांच टूट करके सीधे उनकी तरफ गिरा और वह सन्तुलन नहीं बना पाए। कांच पर गिर जाने से उनका हाथ कट गया तब उन्होंने आनन-फानन में सरकारी अस्पताल में दिखाया जहां पर मरीज को बताया गया कि उनका हाथ काटना पड़ सकता है। फिर उनके जानने वाले उन्हें लखनऊ लेकर आए जहां पर पुनः उन्हें सरकारी अस्पताल में दिखाया गया और डॉक्टर ने यहां भी उनके हाथ काटने की ही बात कही।

केजीएमयू के पर्चे और सीटी एंजियोग्राफी की रिपोर्ट के अनुसार मरीज की कोहनी के नीचे खून ले जाने वाली दोनों नलियां (रेडियल और अलवर आर्टरी) कटी हुई थी और चोट लगने के बाद 12 घंटे से अधिक का समय हो गया था। तब एक उनके परिचित की सलाह पर उन्हें सहारा हॉस्पिटल लाया गया, जहां पर उन्हें सहारा हॉस्पिटल के बहुत ही अनुभवी चिकित्सक प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर अनुराग पाण्डेय से परामर्श मिला।

हालांकि सहारा हॉस्पिटल में मरीज 36 घंटे के बाद आया फिर भी उनका हाथ काला नहीं पड़ा था इसलिए उसे अविलम्ब सर्जरी के लिए ओटी में ले जाया गया और कटी हुई सारी नसों (आर्टरी, नर्व्स टेंडन और मसल्स) को सफलतापूर्वक जोड़ा गया।

ज्ञात हो कि सहारा हॉस्पिटल लखनऊ में उनका न केवल हाथ कटने से बचाया गया बल्कि लगभग आधे से भी कम दरों पर सफलतापूर्वक ऑपरेशन भी किया गया। मरीज का भाई व उसके परिवारजन इतने कम खर्चे में इलाज पाकर और सफल ऑपरेशन से बेहद सन्तुष्ट इसलिए हुए कि भविष्य में मरीज अपने हाथ से सारे काम करने में सक्षम होगा।

इस प्रकरण के माध्यम से डॉक्टर अनुराग का यह संदेश है कि सामान्यतः यह माना जाता है कि हाथ या पैर की खून की मुख्य नसों के कटने के बाद उन्हें 6 घंटे के अन्दर जोड़ना चाहिए जैसा कि इस मरीज को दूसरे हॉस्पिटल में बताया गया कि हाथ काटना पड़ेगा लेकिन सहारा हॉस्पिटल लखनऊ में कोशिश करने पर न सिर्फ हाथ को कटने से बचाया गया बल्कि आश्वासन भी दिया गया कि कुछ महीने बाद वह अपने हाथ से सारे काम भी कर पायेगा।

सहारा हॉस्पिटल के वरिष्ठ सलाहकार अनिल विक्रम सिंह ने बताया कि हमारे अभिभावक ‘सहाराश्री’ ने विश्व स्तरीय सहारा हॉस्पिटल का निर्माण करवाया है, जहां हर वर्ग की जरूरत के हिसाब से बेहद किफायती दरों पर इलाज उपलब्ध है। श्री सिंह ने बताया कि लोगों को इस बड़े हॉस्पिटल को देखकर लगता है कि यह महंगा ही होगा जबकि यहां पर उचित सेवाएं, इलाज उचित मूल्य पर उपलब्ध हैं।

पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

spot_imgspot_img

जुड़े रहें
जुड़े रहें

16,985FansLike
2,345FollowersFollow
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Lucknow
mist
19 ° C
19 °
19 °
88 %
1kmh
49 %
Tue
21 °
Wed
26 °
Thu
27 °
Fri
27 °
Sat
27 °
- Advertisement -spot_imgspot_img
ताज़ा खबर

कृषि विज्ञान केन्द्र में मनाया गया विश्व मृदा दिवस, किसानों ने लिया बढ-चढकर भाग

मथुरा। मानव स्वास्थ्य-मृदा स्वास्थ्य एक दूसरे के पूरक हैं। स्वस्थ्य मानव जीवन के लिए मृदा का स्वास्थ्य अच्छा होना...

Newsletter Signup

To be updated with all the Latest news, Breaking News and All your States News

इस तरह के और लेख

- Advertisement -spot_img